You can contact us in the following ways-

Email / Gmail -   infomultiusefulgyan@gmail.com

Or


1. To make all Hindus (followers of Sanatan Dharma) aware of Hindu Dharma and to encourage them to love Hinduism, I consider it a small duty.

I myself walk a good path and inspire others to follow the same good path.

Today, after studying all the religions deeply, it becomes clear that there is definitely something lacking in all the religions. So I respect the good principles of all religions and also condemn (bad principles) against humanity.

समस्त हिन्दुओं (सनातन धर्म का पालन करने वालों) को हिन्दू धर्म के प्रति जागरूक करना और हिन्दू धर्म से प्रेम करने के लिए प्रोत्साहित करना, मैं एक छोटा सा आवश्यक कर्तव्य समझता हूँ।

मैं स्वयं एक अच्छे रास्ते पर चलता हूं और अन्य लोगों को भी उसी अच्छे मार्ग का अनुसरण करने के लिए प्रेरित करता हूं।

आज सभी धर्मों का गहनता से अध्ययन करने के बाद यह स्पष्ट होता है कि सभी धर्मों में कुछ न कुछ कमी अवश्य है। अतः मैं सभी धर्मों के अच्छे सिद्धांतों का आदर करता हूं और मानवता के विरुद्ध सिद्धांतों (बुरे सिद्धांतों) की निंदा भी करता हूं। )

2. Hindu people, who live in confusion or are confused about Hinduism (Sanatan Dharma) and certain principles and verses of Hindu religion or have any kind of doubt about the greatness of Hindu religion or oppose Hindu religion by being a Hindu. To clear their confusion and doubts, being a Hindu, I also consider it my duty.

जो हिन्दू लोग, हिन्दू धर्म (सनातन धर्म) और हिन्दू धर्म के कुछ सिद्धांतों और  श्लोकों को लेकर भ्रम में रहते हैं या भ्रमित हैं या हिन्दू धर्म की महानता को लेकर किसी भी प्रकार की शंका करते हैं अथवा हिन्दू होकर हिन्दू धर्म का विरोध करते हैं, उनके भ्रम और संदेह (शंका) को दूर करना, हिन्दू होने के नाते, मैं भी अपना कर्तव्य समझता हूँ।)

3. Those Hindus and those boys and girls of Hindus, who are forgetting their Hindu civilization and culture and are following the civilization and culture of western people, ignoring Hindu civilization and culture due to fashion; In order to make them follow and understand Hindu civilization and culture, I publish my thoughts in the form of articles.

वे हिन्दू और हिन्दुओं के वे लड़के व लड़कियां, जो अपनी हिन्दू सभ्यता और संस्कृति को भूलते जा रहे हैं और फैशन वश हिन्दू सभ्यता और संस्कृति की अवहेलना करते हुए पाश्चात्य लोगों की सभ्यता और संस्कृति के अनुसार चल रहे हैं; उन्हें हिन्दू सभ्यता और संस्कृति का पालन करवाने और समझाने के लिए, मैं अपने विचारों को लेख के रूप में प्रकाशित करता हूँ। )

4. By affirming (confirming) those things of Hinduism, which are denied by anti-Hinduism, leftists, pseudo-feminists, confused Hindus and people with negative ideologies; I consider it my duty to give a befitting reply to the anti-Hinduism, leftists, pseudo feminists, confused Hindus and people with negative ideologies.

हिन्दू धर्म के जिन बातों का हिन्दू धर्म विरोधी, वामपंथी, छद्म नारीवादी, भ्रमित हिन्दू और नाकारात्मक विचारधारा वाले लोग खंडन करते हैं, हिन्दू धर्म के उन बातों का मंडन (पुष्टि) करके; हिन्दू धर्म विरोधियों, वामपंथीयों, छद्म नारीवादीयों, भ्रमित हिन्दुओं और नाकारात्मक विचारधारा वाले लोगों को करारा जवाब देना मैं अपना कर्तव्य समझता हूँ।)